मुख पृष्ठ
Home
 
किसानों को 1 सितम्बर से रुपे डेबिट कार्ड का होगा वितरण मेडता से होगी शुरूआत
जयपुर, 30 अगस्त। प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने कहा कि सहकारिता से जुड़े किसानों को 1 सितम्बर शुक्रवार से रुपे कार्ड वितरण का कार्य प्रारम्भ हो जाएगा। उन्होंने बताया कि मेड़ता, नागौर में आयोजित समारोह में सहकारिता मंत्री कार्ड वितरण कार्य की शुरूआत करेंगे। श्री कुमार गुरूवार को अपेक्स बैंक के सभागार में 29 केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 25 लाख से अधिक किसान रुपे डेबिट कार्ड का वितरण होना है। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी केन्द्रीय सहकारी बैंक 1 सितम्बर से 5 सितम्बर में मध्य कार्ड वितरण का कार्य प्रारम्भ कर दें और इसकी पालना रिपोर्ट विभाग को भिजवा दें। उन्होंने कहा कि कार्ड वितरण कार्यक्रम में स्थानीय प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किसानों को कार्ड वितरण करें। उन्होंने बताया कि किसान कार्ड की सुरक्षा एवं उसके दुरूपयोग को रोकने के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं। इसलिए रूपे कार्ड किट एवं पिन मेलर को अलग-अलग माध्यम से वितरित किया जाएगा। श्री कुमार ने बताया कि रूपे किसान कार्ड किट में रूपे कार्ड, वेलकम लेटर, यूजर गाईड तथा कार्ड पाउच दिए जाएंगे। किसान कार्ड किट ई-मित्र केन्द्रों के माध्यम से तथा पिन मेलर को निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार कैम्पों का आयोजन कर बांटा जाए। अतिरिक्त रजिस्ट्रार (बैंकिंग) श्री राजीव लोचन शर्मा ने बताया कि केन्द्रीय सहकारी बैंकों के स्तर से ई-मित्र केन्द्रों को बिजनेस करस्पोंडेंट नियुक्त कर दिया है। रूपे किसान कार्ड सही काश्तकार को ही मिले इसके लिए ई-मित्र केन्द्र पर काश्तकार की आधार सत्यापन तंत्र के माध्यम से पहचान सत्यापित करवाई जाए। उसके बाद ही काश्तकार को कार्ड किट जारी की जाए। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय सहकारी बैंक की शाखा द्वारा वितरित किए गए कार्ड की सूचना मय मोबाईल नम्बर कार्डमैन सॉफ्टवेयर में अपडेट करनी होगी। प्रबंध निदेशक अपेक्स बैंक श्री विद्याधर गोदारा ने बताया कि काश्तकारों को पिन मेलर का वितरण ग्राम स्तर पर कैम्प आयोजित कर वितरित किए जाएंगे। यह कार्य ब्लॉक निरीक्षक, शाखा प्रबंधक या पैक्स व्यवस्थापक द्वारा किया जाएगा। कैम्प में काश्तकार की पहचान सुनिश्चित करने के पश्चात् पिन मेलर सील्ड लिफाफे में दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पिन मेलर प्राप्त करने के लिए काश्तकार को आधार कार्ड, रूपे किसान कार्ड एवं बचत खाता की पासबुक प्रस्तुत करना जरूरी होगा। प्रबंध निदेशक ने बताया कि कैम्पों में काश्तकारों को रूपे किसान कार्ड को किस प्रकार से प्रयोग में लाना है और इसके संबंध में क्या-क्या सावधानियां रखनी है, से अवगत कराया जाएगा।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.